बेटे जोरावर के लिए भावुक हुए शिखर धवन, पोस्ट किया शेयर  Public Live

0
21

बेटे जोरावर के लिए भावुक हुए शिखर धवन, पोस्ट किया शेयर 

PublicLive.co.in

टीम इंडिया के स्टार बल्लेबाज शिखर धवन का करियर और निजी जिंदगी दोनों इन दिनों ट्रैक पर नहीं चल रही है। भारतीय टीम से बाहर चले धवन का वाइफ आयशा से तलाक हो चुका है। इसके बाद से गब्बर अपने बेटे जोरावर से भी नहीं मिल पा रहे हैं।

जोरावर के जन्मदिन पर धवन ने एक भावुक पोस्ट शेयर किया था, जो खूब वायरल भी हुआ था। गब्बर को फैन्स का भी भरपूर सपोर्ट मिला था। इस बीच, धवन ने बताया है कि वह पोस्ट उन्होंने सिर्फ अपना प्यार जाहिर करने के लिए शेयर किया था।

बेटे के लिए भावुक हुए धवन

दरअसल, शिखर धवन ने बेटे जोरावर के लिए जन्मदिन पर दिल छू लेने वाला पोस्ट शेयर किया था, जो काफी वायरल हुआ था। धवन का कहना है कि उनको इस बात का एहसास नहीं था कि वह पोस्ट वायरल हो जाएगा। धवन ने एक खेल प्लेऑफ के जरिए बताया है कि क्यों उन्होंने वो पोस्ट क्यों शेयर किया था।

धवन ने कहा, “मैं दर्द में नहीं हूं। मैं सिर्फ अपने विचार शेयर कर रहा हूं। पांच महीने हो गए हैं मेरे उससे बात हुए। मैं सिर्फ अपनी भावनाएं व्यक्त कर रहा हूं। मैं एक भावुक इंसान हूं और मैं अपने बेटे को प्यार भेजने की कोशिश कर रहा हूं, क्योंकि अगर मैं उसको सोचकर दुखी हो जाऊंगा, तो उससे पास निगेटिव एनर्जी जाएगी। मुझे इस बात का एहसास नहीं था कि यह पोस्ट वायरल हो जाएगा। मैंने यह पोस्ट दिल से लिखा था।”

‘उम्मीद नहीं था वायरल होगा पोस्ट’

भारतीय बल्लेबाज ने आगे कहा, “मैंने यह पोस्ट इस उम्मीद से लिखा था कि टेक्नोलॉजी के इस दौर में मेरा बेटा शायद इस पोस्ट को पढ़ सके। वो चाहे जहां हो, मैं उम्मीद करता हूं कि वह खुश हो और एक दिन वो मुझसे आकर मिलेगा। मैं उसके प्यार में हूं, लेकिन मैं हम एक-दूसरे से अलग हैं। मैं उसको पुश नहीं करना चाहता हूं।”

 

Previous articleभारतीय टीम में चुने जाने पर सौरभ कुमार जाहिर की खुशी, कहा…. Public Live
Next articleचंडीगढ़ निगम चुनाव में बड़ा उलटफेर, भाजपा ने जीता मेयर चुनाव, गठबंधन की हार Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।