ब्लड प्रेशर मेंटेन करने में मददगार है अनुलोम विलोम

0
2


योगा करने से हेल्थ को कई तरीके के फायदे मिलते हैं, इसी के साथ ये माइंड के लिए भी बहुत अच्छा होता है। अनुलोम विलोम प्राणायाम बेहद फेमस ब्रीदिंग योग है, जो मन और शरीर को शांत करने के लिए किया जाता है। इस योग को हम अपनी अंगुलियों की मदद से दाएं और बाएं नोस्ट्रिल्स के बीच बारी-बारी से करते हुए गहरी सांस लेने और छोड़ने के माध्यम से कर सकते हैं। इसे करने से हेल्थ को कई तरह के फायदे मिलते हैं। यहां हम उन्ही के बार में आपको बता रहे हैं।

1) दिल को स्वस्थ रखता है : अनुलोम विलोम दिल की परफोर्मेंस को बेहतर करता है। यह ब्लोकेज को भी रोकता है, और इसी के साथ अर्टेरीज को साफ रखता है, ब्लड फ्लो में सुधार करता है। रोजाना इसे करने से दिल के दौरे या कार्डियक अरेस्ट से बचने में मदद मिल सकती है।

2) खर्राटे और साइनस की परेशानी करता है कम : इन दिनों खर्राटे की समस्या काफी आम है, ये परेशानी बड़ों के साथ-साथ बच्चे भी झेल रहे हैं। हालांकि, लगातार सांस लेने से नोस्ट्रिल्स में रुकावट दूर होती है और शरीर में ऑक्सीजन की आपूर्ति सही तरीके से होती है। ऐसे में यह साइनस और खर्राटे जैसी समस्याएं को दूर करने में मददगार साबित होता है। रोजाना इसे करने से नींद की क्वालिटी में भी सुधार होता है। यह इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत करने और सामान्य सर्दी और खांसी जैसे वायरस से लड़ने में भी मदद करता है।

3) अच्छाई को बढ़ावा देता है : यह व्यायाम अंगों की भूख को बनाए रखता है और बाहरी सुंदरता को भी जीवित रखता है। यह टिशू को एक्टिव करता है और फ्रेशनेस को बढ़ावा देने और सुस्ती को दूर करने के लिए शरीर को फिर से एक्टिव करता है।

4) पाचन में करता है सुधार : रोजाना इस व्यायाम को करने से हमें पेट. के संक्रमण, कब्ज की समस्या और दूसरी बीमारियों से बचने में मदद मिलती है। यह पाचन को मजबूत करता है और वजन घटाने और मोटापे के विकारों में भी मदद कर सकता है।

5) ब्लड प्रेशर करता है मेंटेन : शरीर के अंगों और स्थिर दिमाग को बनाए रखने के लिए ब्लड फ्लो का सही होना बेहद जरूरी है। प्राणायाम ब्लड प्रेशर को बनाए रखता है और पूरे शरीर में नसों को शुद्ध करता है। यह बीपी से जुड़ी बीमारियों जैसे डायबिटीज को भी ठीक कर सकता है



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here