भारतीय टीम के रिंकू सिंह पिता की मेहनत से बने स्टार, कहा….. Public Live

0
15

भारतीय टीम के रिंकू सिंह पिता की मेहनत से बने स्टार, कहा…..

PublicLive.co.in

भारतीय टीम के स्टार रिंकू सिंह को हाल ही में एशियन गेम्स में शानदार प्रदर्शन करने के बाद इनाम के रूप में तीन करोड़ रुपये मिले। रिंकू ये पुरस्कार लेने नहीं पहुंचे, लेकिन उन्होंने कहा है कि वह इन पैसों से अपने पापा के लिए कार खरीदेंगे।

एक निजी चैनल की एक रिपोर्ट के अनुसार, इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में हुए इस कार्यक्रम में रिंकू को एक मेडल और 3 करोड़ की इनामी राशि मिली। इसके बाद रिंकू ने अपने पिता के लिए एक कार खरीदने के प्लान के बारे में बताया है।

पिता की मेहनत से स्टार बने रिंकू सिंह, अब निभाएंगे बेटे का फर्ज

दरअसल, भारतीय टीम ने साल 2023 में चीन के हांगझाऊ में एशियन गेम्स में ऋतुराज गायकवाड़ की कप्तानी में गोल्ड मेडल जीता था। गोल्ड मेडल जीतने वाली टीम में रिंकू सिंह अहम प्लेयर थे। उन्हें इनाम के तौर पर 3 करोड़ रुपये की रकम मिली, जिससे उन्होंने अपने पिता के लिए कार खरीदने का मन बनाया है।

रिंकू की कामयाबी के पीछे पिता का रहा अहम हाथ

रिंकू सिंह के बेहतरीन फिनिशर बनने में उनके पिता का अहम हाथ रहा। आईपीएल और डोमेस्टिक क्रिकेट में शानदार परफॉर्में करने के बाद रिंकू लगातार रन बना रहे हैं। उनकी कामयाबी में उनके पिता की मेहनत रही, जिन्होंने रिंकू के स्टार बनने के बाद भी घर-घर एलपीजी सिलेंडर पहुंचाने का काम नहीं छोड़ा।

ऐसा रहा रिंकू सिंह का क्रिकेट करियर

बता दें कि रिंकू सिंह ने आईपीएल में शानदार प्रदर्शन कर भारतीय टीम में अपनी जगह बनाई। 26 साल के रिंकू फिलहाल भारतीय टीम के लिमिटेड ओवर फॉर्मेट का अहम हिस्सा हैं। उन्होंने भारत के लिए 2 वनडे और 15 टी20 मैच अभी तक खेले हैं, जिसमें उन्होंने बल्ले से कमाल का परफॉर्म किया है। रिंकू ने वनडे क्रिकेट में 134 की स्ट्राइक रेट से 55 रन बनाए हैं, जबकि टी2 में उन्होंने 356 रन बनाए हैं।

 

Previous articleफिर बदला मौसम का मिजाज; ठंड की हुई वापसी, आज बारिश की संभावना Public Live
Next articleशाहीन अफरीदी ने आखिरी गेंद पर पलट दी बाजी, 3 रन दौड़कर डेजर्ट को दिलाई जीत Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।