मप्र की सभी लोकसभा सीटें जीतने का रोडमैप तैयार Public Live

0
13

मप्र की सभी लोकसभा सीटें जीतने का रोडमैप तैयार

PublicLive.co.in

भोपाल । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मिशन 400 पार के लक्ष्य को पाने की दृष्टि से भाजपा ने मप्र की सभी 29 लोकसभा सीटें जीतने का लक्ष्य बनाया है। इस लक्ष्य को पाने और लोकसभा चुनाव की तैयारी के अंतिम दौर में जुटी भाजपा ने इस बार कमलनाथ के गढ़ छिंदवाड़ा सहित सभी 29 संसदीय सीटें जीतने के साथ वोट शेयर 68 प्रतिशत पार ले जाने का लक्ष्य तय किया है। चुनाव अभियान के रोडमैप को अंतिम रूप देने के लिए कल पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष, प्रदेश के लोकसभा चुनाव प्रभारी महेंद्र सिंह, सह प्रभारी सतीश उपाध्याय ने लोकसभा संयोजक, लोकसभा प्रभारी और विस्तारकों की बैठक में मिशन- 2024 के लिए चुनावी तैयारी परखी।

मप्र में भाजपा ने जो रोडमैप तैयार किया है उसके तहत आगामी लोकसभा चुनाव में 68 से 70 फीसदी वोट हासिल करने की रणनीति तैयार की गई है। पार्टी का फोकस प्रत्येक बूथ पर दस फीसदी वोट शेयर बढ़ाने का है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी ने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में हमने मध्यप्रदेश में कुल 58 फीसदी वोट हासिल किए थे। इस बार के लोकसभा चुनाव में हमारा लक्ष्य 68 से 70 फीसदी वोट हासिल करने का है। लोकसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर आज भाजपा दफ्तर में क्लस्टर के संयोजक, प्रभारी, सभी लोकसभा क्षेत्रों के संयोजक, प्रभारी और विस्तारकों की बैठक आहूत की गई थी। बैठक के बाद शर्मा ने संवाददाताओं से चर्चा करते हुए कहा कि जिस तरह से विधानसभा का चुनाव हमने प्रत्येक बूथ पर लड़ा था, उसी तरह हम लोकसभा चुनाव भी प्रत्येक बूथ पर लड़ेंगे। हमारा फोकस इस चुनाव में 10 प्रतिशत वोट शेयर बढ़ाने का है। हम इसी संकलप के साथ चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि आज की बैठकों में इसी को लेकर विचार-विमर्श हुआ है और वरिष्ठ नेताओं का मार्गदर्शन मिला है। शर्मा ने कहा कि वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में हमने 58 फीसदी वोट हासिल किए थे। इस बार हमने हर बूथ पर 10 प्रतिशत वोट बढ़ाने का लक्ष्य तय किए हैं। हमारा फोकस 68 से 70 फीसदी वोट हासिल करने का है। हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार और मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव के नेतृत्व वाली राज्य सरकार की गरीब कल्याण की योजनाओं, इन योजनाओं से लाभांवित हुए हितग्राहियों तथा अपने संगठन तंत्र के बलबूते पर यह लक्ष्य हासिल करेंगे और सभी 29 सीटों पर जीत हासिल करेंगे। शर्मा ने दावा किया कि हम सब मिलकर होने वाले लोकसभा चुनाव में एक बार फिर मध्यप्रदेश में इतिहास बनाएंगे।

लोकसभा प्रभारी, संयोजक और 11 सह संयोजक बनाए

भाजपा ने लोकसभा चुनाव की दृष्टि से प्रदेश के सभी 29 सीटों के लोकसभा प्रभारी और संयोजक बनाए हैं। शनिवार को प्रदेश भाजपा कार्यालय में दिनभर चली बैठक के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की लोकसभा चुनाव में जिम्मेदारी तय है। इनमें भिंड सीट का संयोजक अवधेश कुशवाह, सह संयोजक मेघ सिंह गुर्जर और प्रभारी लोकेंद्र पाराशर को बनाया गया है। इसी तरह कांग्रेस के कब्जे वाली संसदीय सीट छिंदवाड़ा का लोकसभा संयोजक शेषराव यादव और प्रभारी नरेश दिवाकर को बनाया गया है। 11 सीटें ऐसी है जहां लोकसभा प्रभारी और संयोजक के साथ सह संयोजक भी बनाए गए हैं। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लोकसभा चुनाव में महत्वपूर्ण भूमिका में नजर आएंगे। इसके संकेत शनिवार को शिवराज के भोपाल स्थित बी 8, 74 बंगले पर पहुंच कर प्रदेश में भाजपा के लोकसभा चुनाव प्रभारी डॅा. महेंद्र सिंह, सह चुनाव प्रभारी सतीश उपाध्याय ने दिए। तीनों नेताओं के बीच लगभग दो घंटे की मुलाकात में लोकसभा की 29 सीटों पर चुनाव की रणनीति को लेकर विस्तृत चर्चा हुई। बैठक के पश्चात शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि प्रदेश की समस्त 29 सीट पर जीत हासिल करने के साथ केंद्र में एक बार फिर 2024 में नरेन्द्र मोदी का प्रधानमंत्री बनना सुनिश्चित है और प्रदेश में प्रचंड विजय के लिए हम सब संकल्पित है।

Previous articleमप्र का सात फरवरी से शुरू होगा बजट सत्र Public Live
Next articleउत्तरप्रदेश में यात्रा के मार्ग को अंतिम रूप दिए जाने के बाद इंडिया गठबंधन के साथ साझा किया जाएगा Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।