मुख्यमंत्री ने सीधी में कहा- अब जनता को दफ्तरों के चक्कर नहीं लगाना पड़ेंगे

0
19


सीधी ।    सीधी जिले में ‘मुख्यमंत्री जनसेवा अभियान’ के अंतर्गत आयोजित स्वीकृति पत्र वितरण कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। यह कार्यक्रम सीधी के सब्जी मंडी के सामने खुर्द में आयोजित किया जा रहा है। यहां पर मुख्यमंत्री ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। स्थानीय बुनकरों द्वारा बनाए गए दरी मुख्यमंत्री को भेंट किया गया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आज का कार्यक्रम कार्यक्रम नहीं है गरीबों की जिंदगी बदलने का दिन है। लोकतंत्र जनता के लिए है। लोकतंत्र को जनता का राज कहा है। जनता को दफ्तरों का चक्कर नहीं लगाना पड़े। इसकी व्यवस्था की गई है। 38 योजनाओं की पंचायत में शिविर लगाकर समाधान किया गया। अधिकारी कर्मचारी मौजूद रहे। रीवा संभाग में 759778 आवेदन आए थे उनमें से 702845 अलग-अलग नाम जोड़ दिए गए हैं। सीधी में कलेक्टर से माइक पर मुख्यमंत्री ने किया सवाल, मामा आजकल भाषण नहीं देता सीधे सीधे बात करता है। मुख्यमंत्री के सवाल पर कलेक्टर ने दिया जवाब 151003 आवेदन प्राप्त हुए हैं। 137003 आवेदन स्वीकृत किए गए हैं। जनता को लाभ पहुंचाने का काम आजादी के बाद अब तक नहीं हुआ आज का दिन ऐसा ऐतिहासिक रहा है। जिले में 400 पंचायत हैं। ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में स्वीकृति दिए जा रहे हैं। स्थानीय जनप्रतिनिधि स्वीकृत पत्र बाटेंगे। छत्रपति आमजन के हाथ में और उसका सीधा लाभ मिल जाए हमारी सोच है। भगवान खुश हो ना हो लेकिन गरीबों की पूजा करने से वक्त जरूर होते हैं। इनकी आंखों में साक्षात् नारायण दिखाई देते हैं। जनता ही जनार्दन है। इसके पहले विधायक केदारनाथ शुक्ला ने कृषि महाविद्यालय, इंजीनियरिंग कॉलेज, स्टेडियम की मांग की। विधायक ने कहा कि इसके पूर्व भी हमने यह सभी मांगे थे लेकिन अभी तक पूरा नहीं हुआ आज मैं फिर इसको मांग रहा हूं। रीति पाठक सांसद ने विधायक केदारनाथ शुक्ला की मांगों का समर्थन किया। प्रभारी मंत्री मीना सिंह ने कहा कि प्रदेश की सरकार बिजली पानी सड़क को लेकर अभूतपूर्व काम किया है। मैं गांव की रहने वाली हूं गांव में बिजली की बहुत परेशानियां होती थी। आज गांव में 24 घंटे बिजली मिल रही है। महिलाएं और बेटियों को लेकर प्रभारी मंत्री ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार महिला और बेटियों के लिए लगातार सी योजनाएं चलाकर काम कर रही है। स्वरोजगार के क्षेत्र में हमने काम किया है।






Read this news in English visit IndiaFastestNews.in