रवि शास्त्री ने इस बल्लेबाज के खराब प्रदर्शन पर दी सलाह, कहा……  Public Live

0
10

रवि शास्त्री ने इस बल्लेबाज के खराब प्रदर्शन पर दी सलाह, कहा…… 

PublicLive.co.in

बल्ले के साथ शुभमन गिल की निराशाजनक फॉर्म जारी है। इसे लेकर पूर्व भारतीय कोच रवि शास्त्री ने गिल को चेतवानी दी है। रवि शास्त्री ने कहा ने कहा कि अपने खेल में सुधार करें नहीं तो चेतेश्वर पुजारा जैसे खिलाड़ी तैयार बैठे हैं।

2023 वनडे वर्ल्ड कप के दौरान डेंगू से उबरने के बाद से, गिल का बल्ले का फॉर्म काफी खराब रहा है, जिसमें सबसे ताजा मामला इंग्लैंड के खिलाफ पहले दो टेस्ट का है। गिल को हैदराबाद टेस्ट के दौरान क्रीज पर टिके रहने के लिए संघर्ष करना पड़ा। पहले टेस्ट मैच में वह 23 और 0 पर आउट हुए थे। वहीं, दूसरे टेस्ट मैच में भी उन्हें बल्लेबाजी के दौरान संघर्ष करते हुए देखा गया। भारत की पहली पारी में 46 गेंद पर 34 रन बनाकर अनुभवी तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने आउट किया।

पुजारा के प्रदर्शन की ओर किया इशारा

शुभमन गिर की खराब फॉर्म पर कमेंट्री के दौरान शास्त्री ने घरेलू क्रिकेट में पुजारा की लगातार सफलता और सौराष्ट्र के लिए उनके शानदार प्रदर्शन की ओर इशारा करते हुए गिल को अपने प्रदर्शन में सुधार लाने की सलाह दी। शास्त्री ने कहा, “यह एक नई टीम है, एक युवा टीम है। इन युवाओं को खुद को साबित करना होगा। मत भूलिए, पुजारा इंतजार कर रहे हैं। वह रणजी ट्रॉफी में कड़ी मेहनत कर रहे हैं और वह तैयार बैठे हुए हैं।”

बल्लेबाजी में सुधार लाने की दी सलाह

शास्त्री ने आगे कहा, “यह एक टेस्ट मैच है, आपको वहां रहना होगा। अन्यथा, आप सभी प्रकार की समस्याओं में फंस जाएंगे। आप उन कठोर हाथों से जा रहे हैं, गेंद तक पहुंच रहे हैं। विशेष रूप से एंडरसन के स्तर के किसी व्यक्ति के साथ।” पूर्व कोच के अनुसार, नंबर 3 पर गिल के हालिया संघर्ष ने बल्लेबाज के सामने आने वाली चुनौतियों को दिखाया था, जिसके कारण उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में धैर्य और अनुकूलन क्षमता की आवश्यकता को महत्व दिया।

Previous articleमुस्लिम युवक ने हिंदू बन युवती को प्रेमजाल में फंसाकर किया दुष्कर्म Public Live
Next articleइंदौर की बालिकाओं ने स्पेशल ओलंपिक्स में रोशन किया नाम, सिल्वर मेडल दिलाया Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।