श्रीमद् भागवत कथा में भक्ति रस की प्रधानता न हो तो कथा का आनंद ही नहीं…

0
17


हरदा में कथा का दूसरा दिन

हरदा-भोपाल । प्रख्यात कथा वाचिका पूज्यनीय जया किशोरी के मुखारविंद से हरदा में चल रही श्रीमद् भागवत कथा के दूसरे दिन कथा शुरू होने के पूर्व कमल सांस्कृतिक  मंच एवं कथा आयोजन समिति के संयोजक संदीप पटेल ने सपत्निक विधिवत कथा स्थान पर विराजे देवी देवताओं की मंत्रोच्चार के बीच पूजा अर्चना और व्यास पीठ पर भगवान श्री हरि को बैठाकर कथा आरंभ करने की प्रक्रिया शुरू की। इसके बाद व्यास पीठ पर कथा वाचिका जया किशोरी के साथ भगवान श्री हरि की आरती की गई। जिसमें कथा आयोजक कृषि मंत्री एवं किसान नेता कमल पटेल सपरिवार शामिल हुए।

इसके पश्चात कथा के दूसरे दिन श्रीमद् भागवत कथा पर प्रकाश डालते हुए कथा वाचिका जया किशोरी ने कहा कि श्रीमद् भागवत कथा में  भक्तिरस का मिश्रण न हो तो कथा में आनंद की  प्राप्ति संभव न होगी। इसलिए श्रीमद् भागवत  कथा में भक्ति रस की प्रधानता है। आज की कथा में उन्होंने श्री हरि के सृष्टि में लिए सभी अवतारों का सजीव चित्रण किया और बताया कि श्रीहरि को यह अवतार क्यों और किस लिए लेने पड़े। गुरुवार की कथा के समापन के पूर्व श्रीमद्भागवत गीता की आरती उपस्थित जजमानो ने सपरिवार की।






Read this news in English visit IndiaFastestNews.in