Home India सपा सरकार में अयोध्या में श्रीराम मंदिर नहीं बनता : सीएम योगी...

सपा सरकार में अयोध्या में श्रीराम मंदिर नहीं बनता : सीएम योगी Public Live

0
13

सपा सरकार में अयोध्या में श्रीराम मंदिर नहीं बनता : सीएम योगी

PublicLive.co.in


Updated on 5 Feb, 2024 01:00 PM IST BY KHABARBHARAT24.CO.IN

कन्नौज । मुख्यमंत्री योगी ने कन्नौज का दौरा किया। यहां उन्होंने अशोक नगर स्थित केके इंटर कॉलेज के बोर्डिंग ग्राउंड में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि यदि आज समाजवादी पार्टी की सरकार होती तो अयोध्या में कभी भी श्रीराम का मंदिर नहीं बन पाता। 

सीएम योगी ने कहा कि सपाई अयोध्या में भगवान श्रीराम का और कन्नौज में आंबेडकर का विरोध करते हैं। 

मगर डबल इंजन की सरकार जहां एक तरफ विकास कार्यों को स्पीड से पूरा करती है। वहीं आस्था का सम्मान भी करती है। मुख्यमंत्री ने कन्नौज को 352 करोड़ रुपए की 59 परियोजनाओं की सौगात दी। सीएम योगी ने कन्नौज के सांसद सुब्रत पाठक के पिता ओम प्रकाश पाठक की पांचवीं पुण्यतिथि पर नमन किया। उनकी याद में सांसद द्वारा प्रतिवर्ष दिव्यांगजनों को कृत्रिम अंग और ट्राईसाइकिल दिए जाने की मुख्यमंत्री ने प्रशंसा की। सीएम ने कहा कि दिव्यांगों को अगर समाज और सरकार से सपोर्ट मिले तो बड़ी से बड़ी उपलब्धि भी उनके कदमों में होती है। सीएम योगी ने जनता को अयोध्या आकर श्रीराम मंदिर में दर्शन करने निमंत्रण भी दिया।

Previous articleरविवार को सनराइजर्स और रॉयल्स के बीच हुआ मुकाबला, सनराइजर्स ने 165 रन बनाकर की जीत हासिल Public Live
Next articleफाइटर ने रिलीज के 11 दिन किये पूरे, 200 करोड़ के करीब पहुंची फिल्म Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।