सिंधिया दे रहे कांग्रेस को झटके पे झटका, अब पांच पार्षद व 320 कार्यकर्ताओं को पार्टी में किया शामिल Public Live

0
36

सिंधिया दे रहे कांग्रेस को झटके पे झटका, अब पांच पार्षद व 320 कार्यकर्ताओं को पार्टी में किया शामिल

PublicLive.co.in

ग्वालियर ।    विधानसभा चुनाव में अच्छे परिणाम के बाद आगामी लोकसभा से पूर्व अब ज्योतिरादित्य सिंधिया की सक्रियता ग्वालियर-चंबल क्षेत्र में और बढ़ गई है। पिछले 10 दिनों में पचास से अधिक सभाएं की व जनता को संबोधित किया। केंद्रीय मंत्री इसी कड़ी में कल दिल्ली से पुनः कई कार्यक्रम में शामिल होने ग्वालियर पधारे और उन्होंने कांग्रेस को कई झटके दिए। बता दें कि कल उन्होंने एयरपोर्ट पर गुना सांसद केपी यादव के भाई व यूथ कांग्रेस के जिला अध्यक्ष अजय पाल यादव को भाजपा की सदस्यता दिलाई। इसके बाद सभाओं में एक कड़ी सी लग गई। क्षेत्र के पांच पार्षदों को भी पार्टी में समर्थकों के साथ शामिल कराया। कांग्रेस पार्षद गौरा अशोक गुर्जर (वार्ड संख्या 62), बीएसपी पार्षद सुरेश सोलंकी (वार्ड संख्या 23), आशा सुरेंद्र चौहान (वार्ड संख्या 2), कमलेश बलवीर सिंह तोमर (वार्ड संख्या 19), दीपक मांझी (वार्ड संख्या 6) ने कल केंद्रीय मंत्री की उपस्थिति में भाजपा की सदस्यता ली।

ग्वालियर-चंबल में कांग्रेस कमजोर

इसके साथ अलग से 320 पूर्व कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को भी पार्टी में शामिल कराया। केंद्रीय मंत्री के लगातार ग्वालियर चंबल के दौरे और कांग्रेसी नेताओं व कार्यकर्ताओं को पार्टी की सदस्यता से क्षेत्र में कांग्रेस की कमर टूट चुकी है। राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि विधानसभा चुनाव में हार के बाद ग्वालियर-चंबल में कांग्रेसी कमजोर होती जा रही है। जो सिंधिया समर्थक नेता व कार्यकर्ता 2020 में भाजपा में शामिल नहीं हो पाए थे वें अब हो रहे है। 

Previous articleगिरावट के साथ खुला शेयर बाजार, सेंसेक्स 40 अंक ऊपर, निफ्टी 21800 के करीब Public Live
Next articleभारत के नाम जुड़ा अनचाहा रिकॉर्ड Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।