होली की छुट्टी लेकर घर आये होटल के कुक ने फांसी लगाकर दी जान Public Live

0
18

होली की छुट्टी लेकर घर आये होटल के कुक ने फांसी लगाकर दी जान

PublicLive.co.in

भोपाल। नये शहर के चूनाभट्टी थाना इलाके में एक युवक द्वारा फांसी लगाकर खुदकुशी किये जाने का मामला सामने आया है। फिलहाल आत्महत्या के सही कारणो का खुलासा नहीं हो सका है, जिकसी पुलिस जॉच कर रही है। मृतक हरदा में एक होटल में कुक का काम करता था। बीते दिनो वह होली मनाने के लिये छुट्टी लेकर परिवार वालो के पास आया था। थाना पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार बलोनिया ईश्वर नगर नई बस्ती चुनाभट्टी में रहने वाला 30 वर्षीय शुभम बलोनिया (30) पुत्र मंगल सिंह हरदा में एक होटल में कुक का काम करता था। उसके परिवार में पत्नि सहित 2 साल का बेटा और पांच साल की एक बेटी है। परिवार वालो का कहना है कि परिवार वालो के साथ होली का त्यौहार मनाने के लिये शुभम तीन पहले छुट्टी लेकर भोपाल स्थित अपने घर आया था। बताया गया है कि वह अक्सर कमरा बंद कर सो जाया करता था। मंगलवार देर शाम वह पत्नी बच्चे के साथ घर पर था। उसी समय वह अपने कमरे में चला गया और कमरे का दरवाजा भीतर से बंद कर लिया। परिवार वाले समझे की वह सोने गया है। लेकिन जब काफी देर तक वह बाहन नहीं आया तब पत्नि ने उसे खाने के लिये जगाने का प्रयास करते हुए दरवाजा खटखटाया, लेकिन काफी खटखटाने के बाद भी भीतर से कोई जवाब नहीं आया। अनहोनी की आशंका के चलते पत्नि ने आवाज देकर पड़ोसियों को मदद के लिये बुलाया। आसपास के लोग किसी तरह से दरवाजा तोड़कर अंदर गये वहॉ कमरे में उन्हें शुभम का शव फंदे पर लटका नजर आया। शव फंदे से उतारते हुए मामले की सूचना पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल की जॉच के बाद मर्ग कायम कर शव का पीएम के लिए भेजा जहॉ से पोस्टमॉर्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। परिवार वालो का कहना है कि शुभम ने किसी तरह की परेशानी की बात नहीं बताई थी। पुलिस को उसके पास से कोई सुसाइड नोट भी नहीं मिला है, फिलहाल पुलिस आगे की जॉच कर रही है।

 

Previous articleछात्रा ने खुद रची अपनी किडनैपिंग की साजिश, पुलिस ने बताई ये वजह Public Live
Next articleघर के सामने खड़े होने की बात पर मंदबुद्धि युवक की लोहे के सूजे से हत्या का प्रयास Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।