10वीं बोर्ड की परीक्षा आज से शुरू, 9.92 लाख स्टूडेंट्स हुए शामिल, सीएम ने दी शुभकामनाएं Public Live

0
15

10वीं बोर्ड की परीक्षा आज से शुरू, 9.92 लाख स्टूडेंट्स हुए शामिल, सीएम ने दी शुभकामनाएं

PublicLive.co.in

भोपाल ।     मध्य प्रदेश में सोमवार से 10वीं बोर्ड की परीक्षाएं शुरू हो गई। पहले दिन हिंदी विषय का पेपर था। प्रदेशभर में 3868 परीक्षा केंद्र बनाएं गए हैं। जिस पर करीब 9.92 लाख छात्र-छात्राएं परीक्षा में शामिल हुए। परीक्षा सुबह 9 बजे से 12 बजे तक होगी। मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने परीक्षा में शामिल होने वाले छात्र-छात्राओं को लेकर कहा कि तनाव रहित होकर एकाग्रता एवं आनंद के साथ परीक्षा में भाग लीजिए। उन्होंने छात्र-छात्राओं ने कहा कि आप परीक्षा में अपना सर्वश्रेष्ठ दें। निश्चित ही आपके परिश्रम का सुखद फल मिलेगा। मेरी शुभकामनाएं एवं आशीर्वाद आप सभी के साथ हैं।  

केंद्राध्यक्ष के पास भी मोबाइल नहीं 

बोर्ड परीक्षाओं में नकल को रोकने के लिए सख्त इंतजाम किए गए है। इस बार केंद्राध्यक्ष भी परीक्षा केंद्र परिसर में मोबाइल नहीं रख सकेंगे। जिले के साथ ही मंडल पर भी परीक्षा पर निगरानी के लिए कंट्रोल रूम बनाएं गए हैं। पेपर की गोपनीयता भंग करने पर 10 लाख रुपए तक जुर्माना लगेगा। साथ ही 10 साल की सजा का भी प्रावधान किया गया है। एडमिट कार्ड में इस बार एडमिट कार्ड में क्यूआर कोड लगाए गए है। जिसे स्कैन करते ही छात्र-छात्राओं के नाम, फोटो, माता-पिता व स्कूल का नाम, रजिस्ट्रेशन नंबर समेत पूरी जानकारी आ जाएगी। 

एमपी बोर्ड परीक्षाओं के लिए 30 अप्रैल तक प्रदेश में एस्मा लागू

माध्यमिक शिक्षा मंडल मप्र की परीक्षाओं के लिए 30 अप्रैल तक प्रदेश में एस्मा लागू किया गया। एमपी बोर्ड की परीक्षाओं से संबंधित कार्यों के लिए नियुक्त किए गए कर्मी इस दौरान आवश्यक सेवाओं में कार्य करने से इंकार नहीं कर सकेंगे। माशिमं की तरफ से 5 फरवरी 2024 से 10 वीं बोर्ड की परीक्षा का आयोजन किया जा रहा है। हाईस्कूल परीक्षा 5 फरवरी से शुरू होकर 28 फरवरी तक चलेगी। वहीं, 12 वीं की परीक्षाएं 6 फरवरी 2024 से शुरू होंगी और 5 मार्च को समाप्त होंगी। 10 वीं की परीक्षा के लिए 3868 केंद्र बनाए गए हैं। इसमें 302 संवेदनशील केंद्र हैं। इस परीक्षा में 4 लाख 76 हजार 339 छात्राएं और 5 लाख 15 हजार 762 छात्र परीक्षा में बैठेंगे। वहीं, 12 वीं की परीक्षा के लिए 3638 केंद्र बनाए गए हैं, जिसमें 309 संवेदनशील हैं। इसकी परीक्षा में 3 लाख 61 हजार 360 छात्राएं और 3 लाख 86 हजार 878 छात्र शामिल हैं।

Previous articleआगरा में महिला ने प्रेम में धोखा खाया…  Public Live
Next article66वें ग्रैमी अवॉर्ड्स में तीन पुरस्कार जीतने के बाद गिरफ्तार हुए किलर माइक Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।