उन्नाव गैंगरेप केस: आरोपी विधायक की पत्नी की मांग, मेरे पति और पीड़िता का हो नार्को टेस्ट

संगीता सेंगर ने पुलिस महानिदेशक ओ पी सिंह से मुलाकात के बाद कहा, ‘हमारी मांग है कि मेरे पति और लड़की और उसके चाचा का नार्को टेस्ट कराया जाए. इससे सच्चाई का पता लग सकेगा और सही तस्वीर सामने आएगी.

लखनऊ: यूपी के बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर की पत्नी संगीता सेंगर ने अपने पति और गैंगरेप पीड़िता युवती के नार्को टेस्ट कराने की मांग की. पीड़िता ने विधायक पर रेप का आरोप लगाया है. पीड़िता के पिता की हिरासत में मौत के दो दिन बाद आरोपी विधायक की पत्नी आज उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक से मिलीं और नार्को टेस्ट कराने की मांग की.

मेरे पति को मोहरा बनाया गया है: संगीता सेंगर

संगीता सेंगर ने पुलिस महानिदेशक ओ पी सिंह से मुलाकात के बाद कहा, ‘हमारी मांग है कि मेरे पति और लड़की और उसके चाचा का नार्को टेस्ट कराया जाए. इससे सच्चाई का पता लग सकेगा और सही तस्वीर सामने आएगी. हमारी लड़की के साथ पूरी सहानुभूति है. इसके पीछे राजनीतिक वजह है और मेरे पति को मोहरा बनाया गया है.

मेरे पति को बलात्कारी ना कहा जाए: संगीता सेंगर

संगीता सेंगर ने कहा, ‘मेरे पति निर्दोष हैं और मेरा अनुरोध है कि उन्हें बलात्कारी ना कहा जाए. वह पिछले 15 साल से राजनीति में हैं और समाज और जनता की सेवा कर रहे हैं. इस घटना के कारण मेरी बेटियां पढ़ाई में ध्यान नहीं लगा पा रही हैं. उन्होंने कहा कि उनके देवर अतुल पर लगाये गये आरोप भी झूठे हैं. कथित रेप पीड़िता एक सा बयान नहीं दे रही है.

विधायक की पत्नी ने कहा- दोषी साबित होने से पहले ही वह पद क्यों छोड़ें?

यह पूछने पर कि क्या उनके पति को विधानसभा से इस्तीफा देना चाहिए, संगीता सेंगर ने कहा, ‘दोषी साबित होने से पहले ही वह पद क्यों छोड़ें. केवल आरोपों के आधार पर वह इस्तीफा क्यों दें.’ उन्होंने कहा कि वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलकर उन्हें सच्चाई बताना चाहती थीं.

विधायक की पत्नी और कथित बलात्कार पीड़िता दोनों ने ही पूरे मामले की सीबीआई जांच की मांग की है. रेप पीड़िता ने मुख्यमंत्री आवास के पास आत्मदाह करने का प्रयास किया था. उसका कहना है कि उसके पिता के बड़े भाई की हत्या भी विधायक के भाई और गुर्गों ने की थी. अब उसके पिता की हत्या भी इन्हीं लोगों ने की है.

युवती का दावा है कि उन्नाव जिला प्रशासन ने वस्तुत: उसे एक होटल में कैद कर दिया था, जहां ना तो कोई फोन था और ना ही पानी. हर कोने पर सुरक्षाकर्मी लगे थे. युवती ने एक समाचार चैनल से कहा, ‘मैं अपना मोबाइल नहीं चार्ज कर सकती थी. कोई टीवी नहीं था. हम बाहर नहीं जा सकते.’

युवती ने कहा, ‘हमसे बताया गया कि हम बाहर नहीं जा सकते. हर कोने पर गार्ड हैं. जब हमने उनसे मदद के लिए कहा तो उन्होंने कहा कि ये उनका काम नहीं है. क्या यही न्याय है? मैं न्याय चाहती हूं. वे क्यों मुझ पर माफी मांगने का दबाव बना रहे हैं? क्या वे मेरे चाचा को भी मारना चाहते हैं?’ विधायक के भाई अतुल को कल उन्नाव से क्राइम ब्रांच की टीम ने गिरफ्तार किया था.

पीड़िता के परिवार वालों को सुरक्षा मुहैया करा दी गयी है: पुलिस

अपर पुलिस महानिदेशक (लखनऊ जोन) राजीव कृष्णा के नेतृत्व वाली एसआईटी रेप पीड़िता के गांव माखी गयी और सूचनाएं एकत्र कीं. टीम को मुख्यमंत्री को रिपोर्ट सौंपनी है. राजवी कृष्णा ने कहा कि एसआईटी मामले के सभी पहलुओं की जांच करेगी और उसके कार्रवाई करेगी. पीड़िता के परिवार वालों को सुरक्षा मुहैया करा दी गयी है.

इस बीच समाचार चैनलों ने कथित बलात्कार पीडिता के पिता का बयान वायरल किया है, जो उनकी मौत के पहले का है. वीडियो में वह दावा कर रहे हैं कि उन्हें विधायक के भाई ने बेरहमी से पीटा. विधायक के भाई ने दूसरे लोगों के साथ मिलकर उन्हें राइफल की बट से बुरी तरह मारा. चैनलों ने मृतक के पीठ की तस्वीरें भी जारी की हैं, जिनमें घाव के निशान साफ नजर आ रहे हैं. इस बीच सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि वह उन्नाव गैंगरेप मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग करने वाली याचिका पर अगले सप्ताह सुनवाई करेगा. उधर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आज आदेश दिया कि मृतक का दाह संस्कार नहीं करना चाहिए, अगर हो ना गया हो तो. मृतक का दाह संस्कार हालांकि कल कर दिया गया था.

कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बर्खास्त करने की मांग की है. उनकी सरकार को ‘रावण’ करार दिया है. कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने दिल्ली में कहा, ‘योगी आदित्यनाथ सरकार रावण की सरकार है जो महिलाओं की सुरक्षा करने में विफल रही.’

Edited By Ravi Yadav

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help