बेटा हिज्बुल में हुआ शामिल, मां बोली- देशद्रोही को मारकर उसकी लाश जानवरों के सामने डाल दें

असम के एक युवक कमर उज्जमान के आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन में शामिल होने पर उसकी मां ने कहा कि अगर वह आतंकी संगठन में शामिल हो गया है तो सरकार को उसे मार देना चाहिए. वह देश का दुश्मन है. उसकी लाश जानवरों के सामने डाल देनी चाहिए. मुझे ऐसा बेटा नहीं चाहिए.

गुवाहटी: असम के युवक कमर उज्जमान के आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन (एचएम) में कथित तौर पर शामिल होने से आहत मां ने कहा है कि सरकार को उसे गोली मार देनी चाहिए और उस देशद्रोही की लाश को जानवरों के सामने डाल देना चाहिए. राज्य के होजाई जिला के जामुनमुख निवासी उज्जमान की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है.

फोटो सामने आने के बाद असम पुलिस ने कहा कि हम इसकी गंभीरता से तहकीकात कर रहे हैं. पुलिस यह पता लगा रही है कि क्या उज्जमान आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन में शामिल हो गया है? पुलिस ने हिज्बुल में शामिल होने की पुष्टि नहीं की है.

तस्वीर में उज्जमान हथियार से लैस दिख रहा है. जिसपर लिखा है- (संगठन- हिज्बुल मुजाहिद्दीन, नाम- कमर उज्जमान, पिता का नाम- इब्राहिम जमां निवासी : असम भारत, कोड- डॉ हुरैया, योग्यता- एमए इंग्लिश)

तस्वीर सोशल मीडिया में आने के बाद पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) मुकेश सहाय ने कहा कि हम जम्मू-कश्मीर पुलिस के साथ संपर्क में है. वहीं स्पेशल डीजीपी पल्लव भट्टाचार्य ने कहा, ”इसकी पुष्टि करना मुश्किल है कि क्या कमर इस आतंकी संगठन में शामिल हो गया है और पुलिस ने विस्तृत जांच के लिए जम्मू-कश्मीर पुलिस के साथ मामले को उठाया है.”

कमर उज्जमान की मां शाहिरा खातून ने फोटो की पहचान करते हुए कहा कि वह मेरा बेटा है, वह अगर देशद्रोही है तो सरकार उसे गोली मार मार कर मौत के घाट उतार दे.

उन्होंने कहा, ”हां , वह मेरा बेटा कमर है. अगर वह आतंकी संगठन में शामिल हो गया है तो सरकार को उसे मार देना चाहिए. वह देश का दुश्मन है. उसकी लाश जानवरों के सामने डाल देनी चाहिए. मुझे ऐसा बेटा नहीं चाहिए. ऐसा शख्स जिंदा नहीं रहना चाहिए.”

मध्यम वर्गीय परिवार से ताल्लुक रखने वाला उज्जमान अमेरिका में चार साल रह चुका है. साल 2006 में भारत लौटा था और बाद में वह कश्मीर चला गया और बताया कि उसने कपड़ों का व्यापार शुरू किया है.

शाहिरा खातून ने कहा, ”उज्जमान बिजनेस के लिए कश्मीर गया था. जिसके बाद से वह संपर्क में नहीं है. वह करीब 10 महीने पहले गया था.”

कमर उज्जमान के भाई मुफिदुल ने कहा कि वह अपनी पत्नी और 10 वर्षीय बेटे को घर में छोड़कर गया था. उन्होंने कहा, ”अब मैं उसे अपना भाई नहीं मानता. वह गद्दार है उसे मार देना चाहिए. हम उसके शव को भी घर में लाने की इजाजत नहीं देंगे.”

उन्होंने कहा कि कम उज्जमान ने मात्र 10वीं तक पढ़ाई की है. फोटो में गलत लिखा है कि उसने एमए किया है. मुफिदुल ने कहा, ”पिछली जुलाई से उन्हें उसकी कोई खबर नहीं मिली थी जिसके बाद वह जम्मू-कश्मीर गए थे और थाने में उसकी गुमशुदगी का मामला दर्ज कराया था.”

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने भी इसपर प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा, ”इंग्लिश से एमए किया और वह कथित तौर पर असम से कश्मीर में आकर आतंकी संगठन में शामिल हो गया. कुछ दिनों पहले ही में सुरक्षाकर्मी ने मुझे बताया था कि वह श्रीनगर के आसपास के इलाकों में है.”

Omar Abdullah

@OmarAbdullah
An MA in English & reportedly has come all the way from Assam to become a militant in Kashmir. A few days ago my security people had told me about his presence around Srinagar. https://twitter.com/kashmir_monitor/status/983596638068527105 …

12:35 PM – Apr 10, 2018
176
112 people are talking about this
Twitter Ads info and privacy

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help