दिल्ली के एक स्टेशन पर बिना ड्राइवर के अचानक से चलने लगा बंद पड़ा रेल इंजन

ई दिल्लीः दिल्ली के आनंद विहार रेलवे स्टेशन पर बंद पड़ा चालक रहित डीजल रेल इंजन शनिवार को अचानक से चलने लगा और फिर पटरी से उतर गया. आनंद विहार स्टेशन पर डीजल इंजन के अचानक से चलने की यह घटना दिन में दो बजकर 33 मिनट पर हुई. उत्तर रेलवे के एक प्रवक्ता ने बताया कि यह घटना हैंड – ब्रेक के फेल होने के कारण हुई. प्रवक्ता ने कहा कि रेल इंजन करीब 40 मीटर तक चला और फिर पटरी से उतर गया. कुछ दिनों पहले ओडिशा में एक यात्री ट्रेन के 22 डिब्बे इंजन के बिना 10 किलोमीटर तक चलते चले गए थे.

इस लापरवाही पर उत्तर रेलवे ने कार्रवाई करते हुए एक ड्राइवर को सस्पेंड कर दिया है और पूरे मामले की जांच के आदेश दिए हैं.

7 अप्रैल को ओडिशा में अहमदाबाद-पुरी एक्सप्रेस में सफर कर रहे यात्री भीषण हादसे का शिकार होने से बच गए थे. यहां के तितलागढ़ स्टेशन पर ट्रेन के इंजन को बदलने की प्रक्रिया चल रही थी, लेकिन किसी वजह से रेलवे कर्मचारी डिब्बों के ब्रेक लगाना भूल गए और बिना इंजन के ट्रेन के 22 डिब्बे लगभग 10 किलोमीटर दौड़ते रहे. रेलवे सूत्रों के मुताबिक, रात करीब 10 बजे ट्रेन के कोच केसिंगा की ओर बढ़ने लगे और इसने बिना इंजन के करीब 10 किलीमोटीर तक की दूरी तय की जबतक कि एक हॉल्ट पर रोक नहीं लिया गया.

रेलवे प्रवक्ता ने कहा कि रेलवे कोच को पहले से सतर्क एक कर्मचारी ने पटरी पर पत्थर रखकर कोच को रोका और फिर उसे सुरक्षित हॉल्ट पर लाया गया. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि तितलागढ़ से केसिंगा की ओर ढलान होने की वजह से ट्रेन बिना इंजन के ही चलने लगी.

नवंबर 2017 में रेवाड़ी में भारतीय रेलवे की धरोहर माने जाने वाला भाप का इंजन ‘अकबर’ उत्तर रेलवे के रेवाड़ी स्टीम शेड में मरम्मत कार्य के दौरान पटरी से उतर गया. हालांकि इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है. उत्तर रेलवे के प्रवक्ता नितिन चौधरी ने बताया कि इंजन अकबर की शेड में मरम्मत चल रही थी. इस दौरान इंजन के ब्रेक की भी जांच की गई. तभी इंजन चलने लगा. बिन ड्राइवर ट्रैक पर इंजन के दौड़ने से कर्मचारी भी घबरा गए.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इंजन जब चलना शुरू हुआ तो उसमें कर्मचारी मौजूद थे. लोको पायलेट ने ब्रेक लगाया लेकिन वो ठीक से काम नहीं कर रहे थे जिसके कारण इंजन ट्रैक पर आगे बढ़ता गया और दीवार तोड़ बाहर निकल गया. डर के मारे लोगो पायलेट इंजन से कूद गया. करीब दो किलोमीटर तक बिना ड्राइवर के चलने के बाद ‘अकबर’ पटरी से उतर गया. हालांकि इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ. बताया जा रहा है कि रेलवे की संपत्ति को भी कोई नुकसान नहीं पहुंचा है.

इंजन का नाम मुगल बादशाह अकबर के नाम पर रखा गया है और यह रेलवे के पुराने भाप इंजनों में से एक है. यह इंजन करीब 65 साल पुराना है. यह इंजन अकबर 40 से ज्यादा फिल्मों में भी नजर आ चुका है. जिसमें से एक सलमान खान स्टारर फिल्म ‘सुल्तान’ थी. इस फिल्म में सलमान भाप इंजन अकबर के साथ रेस लगाते नजर आते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help