बांदा से रायबरेली तक का सफर महज ढाई घंटे में! अभी तक लगते थे 8 घंटे

publiclive.co.in[Edited by Ranjeet]
अब बांदा से बरेली तक का सफर आप महज ढाई घंटे में तय कर सकेंगे. रायबरेली-बांदा राष्ट्रीय राजमार्ग जो अभी तक टू लेन था, उसे फोर लेन कर दिया गया है. यह राजमार्ग अंबेडकर नगर टांडा से फतेहपुर होकर बांदा जाने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग 232 का हिस्सा है. अभी तक इस रोड पर करीब 7.8 घंटे का समय लगता था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को रायबरेली-बांदा सेक्शन के नवीनीकृत मार्ग को देश को समर्पित करेंगे. यह राजमार्ग बुंदेलखंड के कई इलाकों चित्रकूट समेत लखनऊ और पूर्वांचल के कई इलाकों को जोड़ता है. 133 किमी लंबे इस खंड को पूरा करने में करीब 588 करोड़ रुपये की लागत आई है.

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने अपने एक बयान में कहा, “जब एनएचएआई ने इस हाईवे को 2013 में अपने हाथों में लिया तो यह बहुत बुरी स्थिति में था. बादा से बरेली तक का सफर तय करने में 7-8 घंटे लगते थे. नवीनीकरण के बाद, इन दोनों शहरों के बीच का सफर महज ढाई घंटे में होने लगा है.”

इस हाईवे पर दो बायपास हैं. एक फतेहपुर के पास 11 किमी लंबा बायपास बनाया गया है और दूसरा रायबरेली के निकट लालगंज में 5 किमी का बायपास बनाया गया है. दो रेलवे ओवर ब्रिज भी बनाए गए हैं. बयान में कहा गया कि इस राजमार्ग के चौड़ीकरण से जाम में कमी आएगी. प्रदूषण और ईंधन की खपत में कमी आएगी.

गौरतलब है कि टांडा से प्रतापगढ़, सुल्तानपुर, रायबरेली, फतेहपुर, बेंदा घाट, तिंदवारी होकर बांदा 365 किलोमीटर बनने वाले एनएच 232 के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण को 1118.79 करोड रुपये आवंटित कर राष्ट्रीय राजमार्ग का दर्जा देकर बाकायदा काम शुरू किया गया था. पहले चरण में टांडा से रायबरेली तक जबकि दूसरे चरण में रायबरेली से बांदा तक होना था जिसे पूरा कर लिया गया है.

पीएम मोदी करेंगे रायबरेली का दौरा
पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के सियासी गढ़ रायबरेली का दौरा करेंगे. प्रधानमंत्री अपने रायबरेली दौरे पर 1100 करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण तथा शिलांन्यास करेंगे. यूपीए अध्यक्ष सोनिया तथा उनसे पहले भी नेहरू-गांधी परिवार का राजनीतिक दुर्ग रहे रायबरेली का मोदी का यह पहला दौरा होगा. हाल में आए पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के नतीजों से पहले ही तय हो चुके मोदी के रायबरेली दौरे को कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व को उनके गढ़ में ही घेरने की भाजपा की रणनीति का हिस्सा माना जा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help