कालका में युवक ने की खुदकुशी:लड़की के घर पहुंच तारपीन डालकर खुद को आग लगाई, 11 दिन बाद हॉस्पिटल में दम तोड़ा; पिता ने लगाया हत्या का आरोप

हरियाणा के कलंक में सोमवार को एक युवक की खुदकुशी का मामला सामने आया है। यह घटना 25 मार्च को युवक ने अपनी प्रमिका से दूर होने की वजह से युवती के घर पहुंचकर खुद को आग लगा ली थी। इसके बाद उसे चंडीगढ़ के PGIMER में भर्ती कराया गया था। यहां आज तड़के 3 बजे युवक ने दम तोड़ दिया। मृतक के घर वालों ने लड़की के घर वालों पर हत्या का आरोप लगाया है। पिता का कहना है कि बेटे के साथ मारपीट की गई। इसके बाद उसे आग के हवाले कर दिया। पुलिस का कहना है कि दोनों पक्षों के बयान लेकर उनके आधार पर ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

घटना कालका की हाउंसिग बोर्ड कॉलोनी की है। यहां एक घर में 26 मार्च की शाम को एक युवक ने अपने ऊपर तारपीन का तेल डालकर आग लगा ली थी। युवक ने यह कदम गर्लफ्रेंड से दूर होने की वजह से उठाया था। दोनों करीब 12 साल से रिलेशनशिप में थे। जानकारी के मुताबिक, नाबालिग रहते ही दोनों ने घर वालों की मर्जी के खिलाफ शादी कर ली थी। दोनों परिवारों ने इस रिश्ते को मान भी लिया, लेकिन बाद में लड़की और उसके घर वालों ने किनारा करना शुरू कर दिया।

पुलिस को दिए बयान में मृतक युवक सुमित के पिता राकेश कुमार ने कहा कि सुमित के पिछले 12 साल से एक लड़की के साथ संबंध थे। जब सुमित 9वीं कक्षा में पढ़ता था तो उस वक्त उसनी इस लड़की से दोस्ती हुई और फिर दोनों ने घर वालों का बिना बताए छिपकर शादी भी कर ली थी। इसे स्वीकार करते हुए लड़की के घर वालों पूरे रीति-रिवाज से शादी करने की बात कही और वो उसे अपने साथ ले गए। अचानक से कुछ दिन पहले लड़की और उसके घर वालों का रवैया बदल गया। दोनों सुमित से किनारा करने लग गए। उन्होंने सुमित पर शराब पीने का भी आरोप लगाया और शादी नहीं करने की बात कह डाली। हालांकि, इससे पहले उस परिवार का हर सामाजिक कार्य में सहयोग था। यहां तक कि सुमित की बहन की शादी में भी उसकी प्रेमिका पूरे परिवार के साथ आई थी।

प्रेमिका के घर में आग लगाने के बाद झुलसा हुआ युवक। इसे पहले स्थानीय अस्पताल फिर चंडीगढ़ PGIMER में भर्ती कराया गया था।

प्रेमिका के घर में आग लगाने के बाद झुलसा हुआ युवक। इसे पहले स्थानीय अस्पताल फिर चंडीगढ़ PGIMER में भर्ती कराया गया था।

शिकायतकर्ता राकेश कुमार का कहना है कि हाल ही में 25 मार्च को लड़की ने सुमित को अपना रिश्ता कहीं कर देने के बारे में बताया। अब तू अपनी सोच मरना है जीना है, तेरे हाथ है। 26 मार्च की रात को सुमित इसी मसले पर बात करने लड़की के घर गया था। वहां उन्होंने कहा कि तू हमारे बेटे की तरह है, हम पर इतना अहसान कर कि हमारी लड़की का पीछा छोड़ दे। अगर इसके बिना नहीं जी सकता तो बेहतर होगा कि तू मर ही जा। इसी बीच उसके दादा ने घर में पड़ा तारपीन का तेल लाकर सुमित को दे दिया। सब लोगों के दबाव में मजबूर होकर सुमित ने खुद को आग लगा ली।

पिता का आरोप है कि इस खौफनाक हालत के बाद लड़की वाले उसे अस्पताल ले जाने की बजाय मारपीट पर उतर आए। उसे जलती हुई हालत में कमरे में बदं कर दिया। पता चलने पर उसके दोस्तों ने उसे कालका के स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया। यहां से गंभीर हालत में उसे PGIMER रेफर कर दिया गया। दूसरी ओर इस घटना का एक वीडियो भी सामने आया है। इसमें देखा जा सकता है कि युवक आग की लपटों में घिरा है और आसपास मौजूद लोग उसे उसके पिता के आरोप के ठीक उलट बाहर निकालने की बात कह रहे हैं।

इनपुट: बलविंदर शम्मी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help