जोधपुर ;पानी चोरी मामले में 9 लोगों की गिरफ़्तारी ;-अपने खेत से गुजरनेवाली पाइपलाइन को पहले करते थे क्षतिग्रस्त, फिर जोड़ लेते थे अवैध कनेक्शन

पानी चोरों की गिरफ्तारी - Dainik Bhaskar

पानी चोरों की गिरफ्तारी

  • पानी चोरों के खिलाफ एक्शन मोड में जलदाय विभाग
  • देड़ावास गांव में विभाग ने दर्ज कराई थी FIR

इंदिरा गांधी नहर में चल रहे 60 दिन के अब तक के सबसे बड़े क्लोजर और गर्मी बढ़ने के साथ बढ़ी मांग ने जलदाय विभाग के समीकरण को गड़बड़ा कर रख दिया है। ऊपर से पाइप लाइन से पानी की बढ़ती चोरियां कोढ़ में खाज का काम कर रही हैं। ऐसे में अब जलदाय विभाग पानी चोरी करने वालों के खिलाफ एक्शन मोड में आ गया है। जलदाय विभाग की ओर से गत दिनों पानी चोरी को लेकर दर्ज कराए गए मामले में पुलिस ने नौ लोगों को गिरफ्तार किया है। लंबे अरसे बाद यह पहला मौका है, जब पानी चोरी के मामले में इतनी बड़ी संख्या में लोग पकड़े गए हैं।

दर्ज कराई थी रिपोर्ट

डांगियावास थानाधिकारी कन्हैयालाल ने बताया कि गत दिनों देड़ावास गांव में जलदाय विभाग की तरफ पानी चोरी की रिपोर्ट थाने में दी गई। पाइप लाइन को नुकसान पहुंचा कर लोगों द्वारा पानी चुराने का केस हुआ था। इस पर पुलिस ने पानी चुराने के आरोप में मिश्रीलाल पुत्र भूराराम, रामचंद्र पुत्र केशवाराम, श्रीराम पुत्र देवाराम, कन्हैयालाल पुत्र मिश्रीलाल, जसवंतसिंह पुत्र मोहनसिंह, कंवराराम पुत्र रामाराम, भंवरलाल पुत्र किशनाराम, नगाराम पुत्र कानाराम एवं बलदेव राम पुत्र पेमाराम को गिरफ्तार किया गया है। इन सभी लोगों ने अपने खेत से होकर निकलने वाली पाइप लाइन में अवैध तरीके से कनेक्शन ले रखे थे। इनके कनेक्शन भी काट दिए गए है।

सारे अवैध कनेक्शन काटने के निर्देश

गत दिनों जलदाय मंत्री बीडी कल्ला ने विधानसभा में घोषणा की थी कि अगले तीन माह में सारे अवैध कनेक्शन काट दिए जाएंगे। साथ ही, उन्होंने सभी विधायकों से अपील की थी कि ऐसे मामलों में वे लोगों का पक्ष न लें और गर्मी के दिनों में जलापूर्ति व्यवस्था बनाए रखने में सहयोग प्रदान करें। इस आदेश के पालन में जलदाय विभाग ने अवैध कनेक्शन काटने का अभियान चला रखा है। इस अभियान में उसे पुलिस सुरक्षा नहीं मिल पा रही है। ऐसे में कनेक्शन काटने जाने में कर्मचारी लोगों के हमले के डर से घबरा रहे है। अब विभाग ने ऐसे लोगों से निपटने के लिए पुलिस केस का सहारा लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help