रेवाडी में दलित दूल्हे को घोड़ी से उतारने का मामला:दूल्हे की शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ मारपीट, स्नेचिंग, एससी-एसटी एक्ट में केस दर्ज

रेवाड़ी

  • घटना के बाद रविवार को गांव में पहुंचे अजा संगठनों ने पंचायत करके जताया विरोध
  • शिकायत मिलने के साथ ही पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा

रोहड़ाई थाना क्षेत्र के गांव बास रतनथल में शनिवार की शाम को घुड़चढ़ी के दौरान दलित दूल्हे को घोड़ी से उतारने के मामले में पुलिस ने गांव के तीन युवकों को नामजद करके कई लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

रविवार को इस मामले में गांव में अजा संगठनों की मौजूदगी में पंचायत भी हुई जिसमें समझौते के प्रयास विफल रहने के बाद दूल्हे ने मामले की शिकायत पुलिस को दी। शिकायत में उन्होंने परिवार के सदस्यों के साथ मारपीट, घोड़ी से गिराने, सोने की चेन सहित 50 हजार रुपए से भरा बैग छीनने का आरोप लगाया है। पुलिस ने बताया कि फिलहाल शिकायत के आधार पर केस दर्ज करके जांच शुरू कर दी गई है।

बास रतनथल निवासी बलबीर सिंह के बेटे विनोद कुमार की शनिवार को शादी थी। आरोप है कि जब शाम को करीब 7 बजे बरात रवानगी से पहले घुड़चढ़ी निकाली जा रही थी।

आरोप है कि एक आरोपी के घर समीप जब घुड़चढ़ी पहुंची तो वहां मौजूद तीन युवकों के अलावा अन्य लोगों ने उनके साथ मारपीट करना शुरू करते हुए अपमानजनक शब्द कहे। इसके बाद उन्होंने उसे भी घोड़ी से गिरा दिया और घोड़ी लेकर आए मालिक को वहां से भगा दिया।

शिकायत में विनोद ने आरोप लगाया कि झगड़े के दौरान आरोपियों ने उसके द्वारा पहनी नोटों की माला, सोने की चेन के साथ उसके भाई के हाथ में मौजूद बैग को भी छीन लिया। इसमें 50 हजार रुपए थे।

इस घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची और अपनी सुरक्षा में निकासी निकलवाकर बरात को सुरक्षित रवाना किया। साथ ही मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस बल भी तैनात कर दिया गया। रविवार को भी परिवार ने पुलिस सुरक्षा में शेड़ भैया सहित विवाह संबंधी अन्य परंपराओं की अदायगी की। सुरक्षा मिलने से परिवार ने राहत की सांस ली।

गांव पहुंचे अजा संगठन, कार्रवाई की मांग पर अड़े

दलित दूल्हे को घोड़ी से उतारने की इस घटना के बाद रविवार को विभिन्न अजा संगठनों के पदाधिकारी गांव में पहुंचे। इसके बाद वहां पर पंचायत का आयोजन किया गया। इसमें समझौते के भी प्रयास किए लेकिन परिवार ने कहा कि यह पहली घटना नहीं है इससे पहले भी दो बार इस तरह की घटनाएं हो चुकी है।

समझौता होने की स्थिति में आरोपियों के हौसले बुलंद हो जाते हैं और फिर वे इसी तरह की घटना को अंजाम देते हैं। इसके बाद संगठनों के साथ पीड़ित परिवार ने पुलिस को शिकायत दी। इस अवसर पर भगतसिंह सांभरिया, राजपाल दहिया, लक्ष्मीबाई लिसाना, होशियार सिंह, ओमप्रकाश सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।

मुकदमा दर्ज कर लिया है, जल्द होगी गिरफ्तारी: एसएचओ

रोहड़ाई थाना प्रभारी मनोज कुमार ने बताया कि पीड़ित परिवार की तरफ से रविवार को शिकायत दी गई है। शिकायत मिलने के साथ हमने आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help