जीत के बाद भी विराट कोहली का कबूलनामा, ‘इन 2 मौकों पर हम चूक गए’

नई दिल्ली: भारत ने मुंबई (Mumbai) के वानखेड़े स्टेडियम (Wankhede Stadium) में न्यूजीलैंड (New Zealand) को 372 रन की करारी शिकस्त दी है. टीम इंडिया (Team India) के कप्तान विराट कोहली (Team India) इस जीत से काफी उत्साहित हैं.

कोहली ने पूरी टीम को जीत का श्रेय

विराट कोहली (Virat Kohli) ने मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘मैदान में सबकुछ तब सही होता है जब आप यकीन करते हैं और प्रैक्टिस पर जोर देते हैं.’ उनका मानना है कि कामयाबी पूरी टीम की होती है किसी एक शख्स की नहीं बल्कि पूरी टीम की होती है, खिलाड़ी लगातार मेहनत करते रहेंगे.’

इन 2 मौकों पर हुए फेल हुई टीम इंडिया

विराट कोहली (Virat Kohli) ने कहा कि टीम इंडिया ने आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल (ICC World Test Championship Final) और आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप 2021 (ICC T20 World Cup 2021) को छोड़कर अच्छी क्रिकेट खेली है.

‘हर मैच या सीरीज नहीं जीत सकते’

विराट कोहली (Virat Kohli) ने कहा, ‘जिस तरह की क्रिकेट हमने इंग्लैंड (England) में खेली और जैसी परफॉरमेंस इंडिया (India) में रही उससे हम काफी कॉन्फिडेंस हासिल कर सकते हैं. जब भी आप टूर्नामेंट खेलेंगे तब आप हर मैच या सीरीज नहीं जीत सकते, लेकिन टीम इंडिया से ऐसी उम्मीद की जाती है कि 12 महीनों में हमें सबकुछ जीतना है. ये इंसानी तौर पर मुमकिन नहीं है, लेकिन हमें पता होता है कि कहां पर चीजों को सुधार कर सकते हैं. कौन से एरिया हैं जहां हम आगे सही दिशा में जा सकते हैं.’

‘टीम इंडिया का लेवल हमेशा ऊंचा रहे’

टीम इंडिया (Team India) के का स्तर हमेशा ऊंचा रहना चाहिए भले हम खेलें या कोई और खेले, अगर युवा आएंगे तो उनका भी माइंडसेट ऐसा ही रहना चाहिए. साल दर साल हम जज करते हैं कि हमने कैसी क्रिकेट खेली, तो हम कह सकते हैं कि हमने अच्छी क्रिकेट खेली.

रहाणे की खराब फॉर्म पर क्या बोले विराट?

अजिंक्य की फॉर्म को मैं जज नहीं कर सकता हूं, मेरे हिसाब से कोई और भी जज नहीं कर सकता, एक खिलाड़ी को पता होता है कि गेम में कौन से एरिया हैं जहां आपको मेहनत करनी है. उन लोगों का सपोर्ट करना बेहद जरूरी है जिन्होंने इससे पहले मुश्किल हालात में बेहतरीन प्रदर्शन किया है. थोड़ा प्रेशर आता है, लेकिन ऐसा माहौल बना दिया जाए कि अब क्या होगा, हम एक टीम के तौर पर उसे एंटरटेन नहीं करते. मैदान के बाहर हम ये बैलेंस की उम्मीद नहीं कर सकते कि जो लोग गुणगान वहीं लोग बाद में कहते हैं कि उसे बाहर कर देना चाहिए. हम इन बातों पर रिएक्ट नहीं करते. हम लोग ऐसे प्लेयर को सपोर्ट करेंगे चाहे वो अजिंक्य हो या कोई भी हो.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help