पीएम ने UP में किया 318 किमी लंबी नहर का उद्घाटन, 4 दशक बाद काम हुआ पूरा

 पीएम मोदी ने उत्तर प्रदेश को बड़ी सौगात दी. प्रधानमंत्री सरयू नहर (Saryu Canal) राष्ट्रीय परियोजना से 14 लाख हेक्टेयर से ज्यादा खेतों को सिंचाई का पानी मिलेगा. करीब 30 लाख किसानों को इससे फायदा होगा.

बलरामपुर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) आज (शनिवार को) उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बलरामपुर (Balrampur) दौरे पर हैं. यहां प्रधानमंत्री मोदी (Prime Minister Modi) ने सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना का उद्घाटन (Saryu Canal Project Inauguration) किया. प्रधानमंत्री मोदी ने आज यूपी (UP) को एक और बड़ी सौगात दी. बता दें कि प्रधानमंत्री सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना से करीब 30 लाख किसानों को फायदा होगा.

बलरामपुर में गरजे पीएम मोदी

बलरामपुर की रैली में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बलरामपुर क्रांतिकारियों की धरती है. अयोध्या में बन रहे प्रभु श्री राम के मंदिर की जब-जब बात होगी तब-तब बलरामपुर के राजा पाटेश्वरी प्रसाद की बात जरूर होगी. भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी को भी बलरामपुर ने ही गढ़ा है. सीडीएस बिपिन रावत को नमन है. एक सैनिक तभी तक सैनिक नहीं रहता जब तक वो सेना में रहता है. देश की आन-बान-शान के लिए वो हर वक्त तत्पर रहता है. ना उसे शस्त्र छिन्न-भिन्न कर सकते हैं और ना ही अग्नि उसे जला सकती है. जनरल बिपिन रावत जहां भी होंगे वो भारत को आगे बढ़ते हुए देखेंगे.

इन 9 जिलों को होगा नहर के पानी का फायदा

पीएम मोदी ने कहा कि भारत रुकेगा नहीं और थमेगा नहीं. हम सब मिलकर और मेहनत करेंगे. हर चुनौती का सामना करेंगे. भारत को और समृद्धशाली बनाएंगे. प्रधानमंत्री सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना का पूरा होना इस बात का उदाहरण है कि जब सोच ईमानदार होती है तो काम पूरा होता है. देश के विकास में पानी की कमी कभी रुकावट नहीं बननी चाहिए. यूपी के 9 जिलों को इस नहर प्रोजेक्ट से फायदा होगा. 2 हेक्टेयर से कम भूमि जिन किसानों के पास है उन्हें इसका फायदा होगा.

प्रोजेक्ट का काम पूरा होने में देरी पर पीएम ने क्या कहा? 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जब 50 साल पहले इस प्रोजक्ट का काम शुरू हुआ था तब इसकी लागत 100 करोड़ रुपये से भी कम थी और आज लगभग 10 हजार करोड़ रुपये खर्च करने के बाद ये परियोजना पूरी हुई. पहले 100 करोड़ में जो काम होना था वो 10 हजार करोड़ रुपये में हुआ. आपकी मेहनत का एक-एक रुपया सही समय पर सही काम करने के लिए होना चाहिए. आपके रुपये को बर्बाद करने वालों को सजा मिलनी चाहिए. जनता उन्हें जवाब देगी. नहर का यही पानी 20-30 साल पहले मिला होता तो वो देश का खजाना भर देता. अपने बच्चों की शिक्षा अच्छी कर पाता.

अखिलेश यादव पर पीएम मोदी का तंज

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव पर तंज कसते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कुछ लोगों का काम सिर्फ फीता काटना होता है. हो सकता है उन्होंने इसका फीता भी बचपन में काट दिया हो. लेकिन हमारी सरकार का काम प्रोजेक्ट को सही समय पर पूरा करना है. हम सिर्फ फीता काटने पर विश्वास नहीं करते हैं.

9800 करोड़ रुपये की लागत से बनी नहर

बता दें कि प्रधानमंत्री सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना के उद्घाटन से बड़ी जनसंख्या को फायदा होगा. ये बहराइच, श्रावस्ती और बलरामपुर से गोरखपुर तक जाने वाली 318 किलोमीटर लंबी सरयू नहर परियोजना है. इससे पूर्वांचल में बाढ़ और सूखे की समस्या से निपटने में मदद मिलेगी. इस परियोजना पर करीब 9800 करोड़ रुपये की लागत आई है.

4 दशक से अटका था परियोजना का काम

साल 1978 में इस प्रोजेक्ट पर काम शुरू किया गया था लेकिन बजट आवंटन और निगरानी के अभाव में देरी हुई. करीब 4 दशक बीत जाने के बाद भी इसे पूरा नहीं किया जा सका था.

प्रधानमंत्री सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना

साल 2016 में इस परियोजना को प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना में शामिल किया गया था. इससे 14 लाख हेक्टेयर से ज्यादा खेतों को सिंचाई के लिए पानी मिलेगा. परियोजना में 5 नदियों घाघरा, सरयू, राप्ती, बाणगंगा और रोहिणी को आपस में जोड़ने का भी प्रावधान है. प्रधानमंत्री सरयू नहर परियोजना 9 जिलों से गुजरेगी, जिसमें गोंडा, बलरामपुर, बस्ती, सिद्धार्थ नगर, गोरखपुर, कुशीनगर, श्रावस्ती, महाराजगंज और सिद्धार्थनगर जिले शामिल हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help