सुरक्षा में सेंध: पंजाब में 15-20 मिनट तक फंसा PM Modi का काफिला, फिरोजपुर रैली रद्द

इस साल पंजाब में होने वाले विधान सभा चुनाव (Punjab Assembly Election 2022) से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की यात्रा काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही थी, जिसे सुरक्षा में चूक के कारण रद्द करना पड़ा.

नई दिल्ली/चंडीगढ़: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की पंजाब के फिरोजपुर रैली रद्द हो गई है. जानकारी के मुताबिक, गृह मंत्रालय ने एक बयान जारी करके बताया है कि पीएम की सुरक्षा में चूक के कारण फिरोजपुर की रैली रद्द की गई. नए कृषि कानूनों (New Agriculture Laws) के रद्द होने के बाद पीएम नरेंद्र मोदी पहली बार पंजाब दौरे (PM Narendra Modi Punjab Visit) पर जाने वाले थे और फिरोजपुर के लिए रवाना भी हो गए थे, लेकिन सुरक्षा कारणों के चलते रैली रद्द करनी पड़ी.

खराब मौसम की वजह से सड़क मार्ग से जाने का फैसला

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बयान जारी कर बताया कि आज सुबह पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) बठिंडा पहुंचे, जहां से उन्हें हेलिकॉप्टर से हुसैनीवाला स्थित राष्ट्रीय शहीद स्मारक जाना था. बारिश और खराब विजिबिलिटी की वजह से पीएम ने करीब 20 मिनट तक मौसम साफ होने का इंतजार किया. जब मौसम में सुधार नहीं हुआ, तो यह तय किया गया कि वह सड़क मार्ग से राष्ट्रीय मेरीटर्स मेमोरियल का दौरा करेंगे, जिसमें 2 घंटे से अधिक समय लगेगा.

15-20 मिनट फ्लाईओवर पर फंसे रहे पीएम मोदी

बयान के अनुसार, ‘डीजीपी पंजाब पुलिस द्वारा आवश्यक सुरक्षा प्रबंधों की आवश्यक पुष्टि के बाद वह सड़क मार्ग से यात्रा करने के लिए आगे बढ़े. हुसैनीवाला में राष्ट्रीय शहीद स्मारक से लगभग 30 किलोमीटर दूर, जब पीएम का काफिला एक फ्लाईओवर पर पहुंचा, तो पाया कि कुछ प्रदर्शनकारियों ने सड़क को अवरुद्ध कर दिया था. इसके बाद पीएम मोदी 15-20 मिनट फ्लाईओवर पर फंसे रहे. यह पीएम की सुरक्षा में एक बड़ी चूक थी.

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मांगी विस्तृत रिपोर्ट

गृह मंत्रालय ने बताया, ‘प्रधानमंत्री के कार्यक्रम और यात्रा की योजना के बारे में पंजाब सरकार को पहले ही बता दिया गया था. प्रक्रिया के अनुसार उन्हें सुरक्षा के साथ-साथ आकस्मिक योजना तैयार रखने के लिए आवश्यक व्यवस्था करनी होगी. साथ ही आकस्मिक योजना के मद्देनजर पंजाब सरकार को सड़क मार्ग से किसी भी आंदोलन को सुरक्षित करने के लिए अतिरिक्त सुरक्षा तैनात करनी होगी, जो स्पष्ट रूप से तैनात नहीं थे. इस सुरक्षा चूक के बाद, बठिंडा हवाई अड्डे पर वापस जाने का निर्णय लिया गया. गृह मंत्रालय ने सुरक्षा में इस गंभीर चूक का संज्ञान लेते हुए राज्य सरकार से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है. राज्य सरकार को भी इस चूक की जिम्मेदारी तय कर सख्त कार्रवाई करने को कहा गया है.

प्रदर्शनकारियों के साथ पुलिस की मिलीभगत: जेपी नड्डा

पीएम मोदी के काफिले को 15-20 मिनट तक फंसने के बाद बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने प्रदर्शनकारियों के साथ पुलिस की मिलीभगत के आरोप लगाए हैं. उन्होंने कहा, ‘यह दुख की बात है कि पंजाब के लिए हजारों करोड़ की विकास परियोजनाओं को शुरू करने के लिए जा रहे पीएम मोदी का दौरा बाधित किया गया. राज्य पुलिस को लोगों को रैली में शामिल होने से रोकने के निर्देश दिए गए. मुख्यमंत्री चन्नी ने फोन पर बात करने या इसे हल करने से इनकार कर दिया.

बीजेपी की चुनावी अभियान की शुरुआत होनी थी

बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की रैली के साथ ही पंजाब में बीजेपी की चुनावी अभियान की शुरुआत होनी थी. अपनी यात्रा के दौरान पीएम मोदी फिरोजपुर में पीजीआई के सैटेलाइट सेंटर समेत लगभग 42,750 करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट्स का उद्घाटन करने वाले थे और इसके बाद फिरोजपुर में ही चुनावी रैली को संबोधित करना था. भाजपा के पंजाब चुनाव प्रभारी केंद्रीय मंत्री गजेंद्र शेखावत की अगुवाई में पिछले कई दिनों से रैली की तैयारियां चल रही थी और पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह भी पीएम मोदी के साथ स्टेज पर पहुंचने वाले थे.

किसानों का गुस्सा शांत करने में जुटी बीजेपी

भाजपा को पंजाब में कृषि सुधार कानून के खिलाफ किसान आंदोलन की वजह से काफी विरोध झेलना पड़ा है. हालांकि अब कानून वापस हो चुके हैं, लेकिन आंदोलन में करीब 700 मौतों की वजह से किसानों का गुस्सा बरकरार है. इसे दूर करने लिए भाजपा केंद्र सरकार द्वारा सिखों के लिए किए काम गिनवा रही है. इसमें करतारपुर कॉरिडोर खोलना, सिख विरोधी दंगों के आरोपियों पर कार्रवाई, लंगर को जीएसटी से छूट, अफगानिस्तान से सिखों की वापसी समेत कई काम शामिल हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help