बच्‍चों के वैक्‍सीनेशन पर पीएम मोदी ने कही बड़ी बात, जानें ओमिक्रॉन पर क्‍या बोले

कोलकाता में कैंसर इंस्‍टीट्यूट के उद्घाटन के मौके पर पीएम मोदी ने हाल ही में शुरू हुए बच्‍चों के रिकॉर्ड वैक्सीनेशन के आंकड़े बताए. साथ ही इसे बड़ी उपलब्धि करार दिया. 

नई दिल्‍ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कोलकाता के चितरंजन नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट के दूसरे कैंपस का उद्घाटन किया. इस मौके पर उन्होंने कोरोना महामारी और हाल ही में शुरू हुए बच्‍चों के वैक्‍सीनेशन पर भी बात की. मोदी ने कहा कि केवल 5 दिनों के अंदर में बच्‍चों का रिकॉर्ड वैक्‍सीनेशन हुआ है. 5 दिन में डेढ़ करोड़ से ज्‍यादा बच्‍चों को वैक्‍सीन लगाए गए हैं. उन्‍होंने कहा कि इसके साथ देश ने डेढ़ सौ करोड़ वैक्‍सीन डोज देने का एक बड़ा बेंचमार्क भी सेट कर दिया है. 

ढाई करोड़ मरीजों का मुफ्त इलाज 

पीएम मोदी ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना आज अर्फोडेबल और इन्‍क्‍लूसिव हेल्‍थकेयर के मामले में एक ग्लोबल बेंचमार्क बन रही है. PM-JAY के तहत देशभर में 2 करोड़ 60 लाख से ज्यादा मरीज, अस्पतालों में अपना मुफ्त इलाज करा चुके हैं. इतना ही नहीं बीते सालों में कैंसर के इलाज के लिए जरूरी दवाओं की कीमत में काफी कमी की गई है. सरकार ने अब तक पश्चिम बंगाल को भी कोरोना वैक्सीन के करीब-करीब 11 करोड़ डोज मुफ्त मुहैया करा दिए हैं. बंगाल को डेढ़ हजार से अधिक वेंटिलेटर, 9 हजार से ज्यादा नए ऑक्सीजन सिलेंडर भी दिए गए हैं. 49 PSA नए ऑक्सीजन प्लांट्स ने भी काम करना शुरू कर दिया है. 

देश की 90 फीसदी आबादी वैक्‍सीनेटेड 

देश के रिकॉर्ड कोविड वैक्‍सीनेशन अभियान को बड़ी उपलब्धि करार दिया. उन्‍होंने कहा कि आज भारत की 90 फीसदी वयस्क आबादी को कम से कम एक डोज लग चुका है. देश में अब तक डेढ़ सौ करोड़ वैक्‍सीन डोज दिए जा चुके हैं. 5 दिन में डेढ़ करोड़ से ज्‍यादा वैक्‍सीन डोज दिए जा चुके हैं. यह उपलब्धि पूरे देश की और हर सरकार की है. वहीं ओमिक्रॉन को लेकर उन्‍होंने जनता को आगाह भी किया. पीएम ने कहा कि ओमिक्रॉन के कारण कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है. हमें इससे पूरी ताकत से निपटना होगा. 

7 सालों में बढ़ी 60 हजार सीटें 

चिकित्‍सा शिक्षा पर भी पीएम ने बात की और कहा कि साल 2014 तक देश में अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट सीटों की संख्या 90,000 के आसपास थी. पिछले 7 सालों में इनमें 60,000 नई सीटें जोड़ी गई हैं. साल 2014 में हमारे यहां सिर्फ 6 एम्स थे, जबकि अब देश 22 एम्स के सशक्त नेटवर्क की तरफ बढ़ रहा है. 

बता दें कि पीएम मोदी ने जिस चितरंजन नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट के दूसरे कैंपस का उद्घाटन किया है, उसमें 460 बेड है. इसमें कैंसर के डायग्‍नोसिस से लेकर कैंसर के इलाज के लिए एडवांस्‍ड ट्रीटमेंट उपलब्‍ध है. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Type in
Details available only for Indian languages
Settings
Help
Indian language typing help
View Detailed Help