26 जिलों में धमाकेदार बारिश का अलर्ट Public Live

0
15

26 जिलों में धमाकेदार बारिश का अलर्ट

PublicLive.co.in

भोपाल। मध्य प्रदेश में धीरे धीरे गर्म हो रहे मौसम के बीच एक बार फिर लगभग आधे राज्य के मौसम ने करवट ली है। इसी के चलते गर्मी के दिनों में आगामी 4 दिनों के दौरान लोगों को ठंड का सामना करना पड़ेगा। वहीं किसानों के लिए नई मुसीबत खड़ी होने जा रही है। बता दें कि आगामी 4 दिनों के दौरान प्रदेश के दो दर्जन से ज्यादा जिलों में मौसम का मिजाज बदलने लगा है। इनमें रीवा, शहडोल, जबलपुर संभाग के कई जिलों में आंधी-तूफान के साथ भारी बारिश और ओले गिरने की संभावना जताई है। जबकि भोपाल, इंदौर संभाग के जिलों में बादल छाए रहेंगे।

मौसम विभाग की ओर से जारी पूर्वानुमान के तहत प्रदेश के जबलपुर, नर्मदापुरम संभाग के साथ साथ करीब 26 जिलों के मौसम में 16 मार्च से बदलाव होगा। ऐसे में 16, 17, 18 और 19 मार्च को पूर्वी हिस्से में बारिश के साथ तेज हवा और ओले गिरने की संभावना है। वहीं, राजधानी भोपाल और इंदौर में काले बादल छाए रहेंगे। यहां हल्की बारिश भी दर्ज की जा सकती है।

तो इसलिए बदला है मौसम

मौसम विभाग के अनुसार, अरब सागर और बंगाल की खाड़ी से नमी आने के चलते ये स्थिति बनी है। फिलहाल पूर्वी विदर्भ से उत्तरी तटीय तट समुद्र तल से लेकर 0.9 किलोमीटर की ऊंचाई पर ट्रफ लाइन गुजर रही है। इस दौरान दक्षिण पूर्वी हवाएं चलने से प्रदेश का मौसम बदल रहा है। चक्रवाती हवाओं के प्रभाव से पूर्वी मध्य प्रदेश में बारिश की संभावना जताई गई है।

इन जिलों में दिखेगा असर

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के तहत 17, 18, और 19 मार्च 2024 को शहडोल, जबलपुर, छिंदवाड़ा, नरसिंहपुर, डिंडोरी, बालाघाट, मंडला, सिवनी, उमरिया, कटनी, अनुपपुर, सागर, दमोह, पन्ना, सतना, मऊगंज, मैहर, सीधी, सिंगरौली में बदलो की गडग़हड़ाहट के साथ हल्की बारिश हो सकती है. कुछ जिलों में बूंदाबांदी तो कहीं कहीं तेज बारिश और ओले भी गिर सकते हैं।

किसानों की बढ़ी मुसीबत

बीते दिनों की मौसम की मार झेल चुके किसान अभी ठीक से उभर नही पाए है कि एक बार फिर एक सिस्टम एक्चिव हुआ है। बारिश से हुए पिछले नुकसान की भरपाई अभी तक नहीं हुई है। लेकिन अगर फिर बारिश होती है तो किसानों को भारी नुकसान का सामना करना पड़ सकता है।

Previous articleनवाज शरीफ की विदाई अब तय Public Live
Next articleमुठभेड़ में दो नक्सली ढेर Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।