3 राज्यों में बर्फबारी, हिमाचल में 485 सडक़ें बंद Public Live

0
10

3 राज्यों में बर्फबारी, हिमाचल में 485 सडक़ें बंद

PublicLive.co.in

नई दिल्ली । देश के उत्तरी राज्यों में बर्फबारी का सिलसिला लगातार जारी है। जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में वेस्टर्न डिस्टर्बेंस के कारण सोमवार तक भारी बर्फबारी का अलर्ट है। इससे हिमाचल प्रदेश में 485 सडक़ें बंद हैं। उधर, दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में आज सुबह तेज बारिश हुई। मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्ली के अलावा आज राजस्थान, पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में भी बारिश का अलर्ट है। इन राज्यों में कल भी बारिश हो सकती है। इसके अलावा इन राज्यों में आज सुबह कोहरे का असर भी देखने को मिला। जम्मू-कश्मीर में भारी बर्फबारी के चलते रविवार को श्रीनगर आने वाली सारी फ्लाइट्स और 7 ट्रेनें कैंसिल कर दी गईं। दिल्ली में विजिबिलिटी काफी कम रिकॉर्ड की गई। कई फ्लाइट्स और ट्रेनें भी लेट हुईं। वहीं, जयपुर में सुबह कोहरे के चलते विजिबिलिटी घटकर 500 मीटर रह गई थी।

मध्य प्रदेश, राजस्थान, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और बिहार में कड़ाके की सर्दी का असर भी लगातार बना हुआ है। इन राज्यों में रविवार सुबह न्यूनतम तापमान 6-10 डिग्री के बीच रिकॉर्ड किया गया। मौसम विभाग के मुताबिक, यहां 6 फरवरी के बाद ठंड कम होगी। इधर, पश्चिम बंगाल और सिक्किम में आज और कल ओले गिरने का अलर्ट है। वहीं, असम, मेघालय, नगालैंड, मिजोरम, मणिपुर और त्रिपुरा में 6 फरवरी तक बारिश की संभावना है। दक्षिणी राज्यों में आज मौसम साफ रहेगा।

प्रेग्नेंट महिला को जवानों ने अस्पताल पहुंचाया

जम्मू-कश्मीर के कुपावड़ा में भारी बर्फबारी के कारण फंसी प्रेग्नेंट महिला को सेना के जवानों ने शनिवार देर रात रेस्क्यू किया। बर्फबारी के कारण महिला सफूरा बेगम के पति मुश्ताक अहमद गागी ने सेना के जवानों से मदद मांगी। जवानों ने सूचना मिलते ही बिना देरी के महिला को अस्पताल पहुंचाने का फैसला किया। उन्होंने 3 फुट बर्फ पर पैदल चलकर 8 किलोमीटर की दूरी तय की।

Previous article बिहार के कई कांग्रेस विधायक  हैदराबाद पहुंचे Public Live
Next article मुंबई एयरपोर्ट पर 1.37 करोड़ का सोना जब्त Public Live
समाचार सेवाएं समाज की अहम भूमिका निभाती हैं, जानकारी का प्रसार करने में समर्थन करती हैं और समाज की आंखों और कानों का कार्य करती हैं। आज की तेज गति वाली दुनिया में ये समय पर, स्थानीय और वैश्विक घटनाओं के बारे में समय पर सटीक अपडेट्स के रूप में कार्य करती हैं। ये सेवाएं, चाहे वे पारंपरिक हों या डिजिटल, घटनाओं और जनजागरूकता के बीच का सेतु बनाती हैं। ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म्स के आगमन के साथ, समाचार वितरण को तत्काल बनाए रखने का सुनहरा अवसर है, जिससे वास्तविक समय में बदला जा सकता है। हालांकि, गलत सूचना और पक्षपात जैसी चुनौतियां बनी हुई हैं, जो सत्यापनीय पत्रकारिता की महत्वपूर्णता को अधीन रखती हैं। सत्य के परकी रखने वाले रूप में, समाचार सेवाएं केवल घटनाओं की सूचना नहीं देतीं, बल्कि जानकारी की अखंडता को भी बनाए रखती हैं, एक जागरूक और लोकतांत्रिक समाज के लाभ में योगदान करती हैं।