55 से अधिक मामलो में 4 सालो से फरार भु-माफिया सुनील टिबड़ेवाल जयपुर से गिरफ्तार Public Live

0
19

55 से अधिक मामलो में 4 सालो से फरार भु-माफिया सुनील टिबड़ेवाल जयपुर से गिरफ्तार

PublicLive.co.in

भोपाल। राजधानी की क्राईम ब्रांच टीम ने भोपाल में 55 से अधिक मामलों में करोड़ो रुपये का जमीन घोटाला कर बीते चार सालो से फरार भूमाफिया सुनील टिबड़ेवाल को आखिरकार जयपुर से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल कर ली है। फरार जालसाज जयपुर में चाय-वाय कैफे तथा स्मैक कैफे संचालित कर फरारी काट रहा था। ठग सुनील टिबड़ेवाल ने जहॉ भोपाल के कोलार, रातीबढ, बाबड़िया कलां इलाको में कई कालोनियों में सैकड़ो प्लाटों को फर्जीवाड़ा कर बेचते हुए करोड़ो की धोखाधड़ी की थी, वहीं वह धोखाधड़ी, बलात्कार, मारपीट एवं चैक बाउस जैसे करीब 60 मामलों,स्थाई वारंटों में फरार चल रहा था। शातिर आरोपी पुलिस की पकड़ से बचने के लिये लगातार अपना ठिकाना बदल-बदल अन्य राज्यों में रह रहा था। अति.पुलिस उपायुक्त क्राइम ब्रांच शैलेन्द्र सिंह चौहान

ने जानकारी देते हुए बताया कि 30 नवबंर 2019 को फरियादी चंदन सिंह वर्मा ने शिकायत दर्ज कराते हुए बताया था कि उसने कृष्णा बिल्डर्स एण्ड डेवलपर्स के प्रोपराईटर सुनील पिता ओमप्रकाश टिबड़ेवाल से रातीबड़ थाना इलाके में स्थित ग्राम खुरचनी में उसकी कालोनी में तीन प्लाट 6 लाख 80 हजार रुपये में खरीदे थे। फरियादी ने आरोपी का पूरा पैमैंट कर दिया लेकि इसके बाद भी सुनील ने रजिस्ट्रियां नहीं कराईं। कई महीनों तक फरियादी उसके सागर होम्स कोलार रोड के आफिस में जाकर रजिस्ट्री कराने के लिये चक्कर काटता रहा। लेकिन सुनील टिबड़ेबाल और उसके पार्टनर विवेक शर्मा ने रजिस्ट्री तो नहीं कराई बल्कि फरियादी से गाली गलौच कर उसे जाती सूचक शब्दों से अपमानित करते हुए दोबारा आने पर जान से मारने की धमकी देकर भगा दिया। शिकायत मिलने पर क्राइम ब्रांच पुलिस ने धारा 420, 406, 506, एससीएसटी एक्ट सहित अन्य धाराओ में मामला कायम कर आगे की कार्यवाही शुरु की। मामला दर्ज होने की भनक लगते ही आरोपी सुनील भुमिगत हो गया था, पुलिस ने आरोपी विवेक शर्मा को गिरफ्तार कर जॉच के बाद कोर्ट में चालान पेश कर दिया था। तब से ही भूमाफिया सुनील टिबड़ेबाल फरार चल रहा था। उसकी गिरफ्तारी पर 30 हजार का इनाम भी घोषित किया गया था। अधिकारियो ने बताया कि क्राइम ब्रांच की टेक्निकल टीम सुनील की सुरागशी के लगातार प्रयास कर रही थी, और करीब 3 महीनो की मेहनत कर तकनीकी साक्ष्यों के आधार पर फरार आरोपी की लोकेशन की जानकारी हाथ लग सकी। इसके बाद उसे दबोचने के लिये पुलिस पार्टी जयपुर राजस्थान रवाना की गई थी। वहॉ पहुंची टीम ने तकनीकी जॉच के आधार पर आखिरकार फरार आरोपी सुनील पिता ओमप्रकाश टिबड़ेवाल (55) निवासी- जी-1/274, ए सेक्टर सागर होम्स, सर्वधर्म कालोनी हुजूर, कोलार रोड, भोपाल (म.प्र.)

वर्तमान पता, 1301, यूडीवी, मानसरोवर, गोपालपुरा बायपास, जयपुर (राजस्थान) को तलाश करते हुए मानसरोवर कालोनी जयपुर (राजस्थान) से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में सामने आया की आरोपी फरारी के दौरान जीरकपुर, चंढीगढ़, पंजाब, दिल्ली, खाटूश्याम, सालासर मंदिर, झुंझनू, नीमराणा तथा जयपुर (राजस्थान) में रहा। पुलिस ने आरोपी को रिमांड पर लेकर उसके फायनेसरों, पार्टनरों के बारे में पूछताछ कर रही है। पकड़े गये जालसाज सुनील की शहर के कोलार, चूनाभट्टी, शाहपुरा, हबीबगंज, एमपीनगर सहित रातीबड़ थाना पुलिस को भी बीते चार सालो से तलाश थी।