Nitin Gadkari ने लांच किया भारत का पहला श्योरिटी बॉन्ड इंश्योरेंस, जानिए किसे मिलेगा फायदा… 

0
15


Surety Bond Insurance : पिछले काफी वक्त से लोगों का इंश्योरेंस को लेकर काफी इंटरेस्ट बढ़ गया है. देश में अलग-अलग प्रकार की इंश्योरेंस (Insurance Plan) मिल रहे  हैं. लोग लाइफ इंश्योरेंस (Life Insurance), हेल्थ इंश्योरेंस (Health Insurance), व्हीकल इंश्योरेंस (Vehicle Insurance) आदि खरीद सकते हैं. वहीं अब सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने एक नई प्रकार की इंश्योरेंस लाने का ऐलान किया था. जिससे कई लोगों को फायदा मिलेगा.

सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार 19 दिसंबर को देश का पहला श्योरिटी बॉन्ड इंश्योरेंस जारी किया। यह कदम इन्फ्रा डेवलपर्स की बैंक गारंटी की निर्भरता को कम करेगा। इस दौरान केंद्रीय मंत्री ने कहा, भारत पांच ट्रिलियन अर्थव्यवस्था बनने के रास्ते पर है। देश की इस उपलब्धि में इंश्योरेंस की अहम भूमिका होगी। उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सपने को साकार करने के लिए यह महत्वपूर्ण है कि बुनियादी ढांचा परियोजनाओं को तेज गति से क्रियान्वित किया जाए। श्योरिटी बॉन्ड इंश्योरेंस से तरलता और क्षमता दोनों की उपलब्धता निश्चित रूप से बढ़ जाएगी। 

सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने आगे कहा कि हमें विश्वास है कि सड़क नेटवर्क के विस्तार से समृद्धि आएगी, रोजगार के अवसर बढ़ेंगे और सामाजिक संपर्क बढ़ेगा। श्योरिटी बॉन्ड इंश्योरेंस इस दिशा में सही कदम है। उन्होंने कहा, मुझे यह देखकर खुशी हो रही है कि बजाज आलियांज जनरल इंश्योरेंस ने इस महत्वपूर्ण उत्पाद को लॉन्च करके एक बड़ी पहल की है।

ठेकेदारों को मिलेगा फायदा

सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने  यह बॉन्ड बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के लिए एक सुरक्षा व्यवस्था के रूप में कार्य करेगा और कंपनी के साथ ही साथ ठेकेदार का भी बचाव करेगा।  उन्होंने कहा, इंश्योरेंस बॉन्ड कंपनी के लिए एक जोखिम हस्तांतरण उपकरण है और यह उन नुकसानों से बचाता है जो ठेकेदार द्वारा अपने संविदात्मक दायित्व को पूरा करने में विफल होने पर उत्पन्न हो सकते हैं। यह उत्पाद कंपनी को गारंटी का एक अनुबंध देता है कि संविदात्मक शर्तें और अन्य व्यावसायिक सौदे  शर्तों के अनुसार संपन्न होंगे। यदि ठेकेदार अनुबंध की शर्तों को पूरा नहीं करता है, तो कंपनी जमानती बॉन्ड पर दावा कर सकता है और अपने नुकसान की वसूली कर सकता है।






Read this news in English visit IndiaFastestNews.in